हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की तलाश मे सतना पुलिस मुस्तैदी के साथ लगी जांच मे यूपी से आने जाने वाली हर गाडियों की जांच पढि़ए पूरी खबर

08.07.2020/म.प्र/विन्ध/सतना

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का संदेह

हेडिंग–काली फिल्म स्कॉर्पियों रोककर घंटों की छानबीन

सतना। उत्तरप्रदेश के कानपुर में एक साथ 8

पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतारने वाले हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की तलाश के बीच सतना में भी पुलिस भारी सक्रिय है। नतीजतन यूपी नंबर के वाहनों पर स्थानीय पुलिस अपनी पैनी नजर बनाए हुए है। इसकी कड़ी में काले रंग क़े एक चार पहिया वाहन को रोककर घंटों छानबीन की गई। यूपी के बाराबंकी से सतना के सर्किट हाउस पहुंची काले रंग की स्कॉर्पियों पर यातायात की नजर पड़ी और बिना देरी किए वाहन को रोक लिया। इस वाहन में 5 लोगों के सवार होने की जानकारी सामने आई है। वहीं जब पुलिस का संदेह कम नहीं हुआ तो वाहन में सवारों युवको के साथ सिविल लाइन थाना भेज दिया गया। जहां पर सिविल लाइन थाना प्रभारी अर्चना द्बिवेदी ने वाहन सवारों से पूछताछ शुरू की। वाहन सवारों ने टीआई को बताया कि वे लोग मैहर स्थित मां शारदा देवी का दर्शन करने के बाद वापस बाराबंकी जा रहे हैं। इसी कड़ी में वाहन पर विधायक लिखा होने के बारे में पूछे जाने पर बताया गया कि वे लोग बाराबंकी उत्तर प्रदेश के सपा विधायक के संबंधी हैं। यह सुनकर पुलिस का संदेह और गहरा गया।

लिखा था सपा विधायक

पुलिस ने बाराबंकी के बताए गए सपा विधायक से स्वयं फोन पर बात की जिसके चलते वाहन सवार लोगों द्बारा दी गई जानकारी की तस्दीक हो सकी, लेकिन इसके बावजूद भी पुलिस ने सभी लोगों के नाम पता और नंबर दर्ज कर लिए हैं और नियम अनुसार चालानी कार्रवाई के बाद ही उन्हें छोड़ा गया।

छिपे होने का संदेह

कानपुर के कुख्यात बदमाश विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए एक ओर जहां उत्तर प्रदेश के एसआईटी व एसटीएफ सहित 4० टीमें लगातार छापेमारी कर रही हैं, वहीं दूसरी ओर इस अपराधी के मध्य प्रदेश अथवा राजस्थान में छिपे होने की संभावना के मद्देनजर यहां की पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया है। चूंकी उप्र कानपुर से कर्वी होते हुए जिले की चित्रकूट की सीमा शुरू हो जाती है। लिहाजा पुलिस द्बारा अपराधियों के किसी तरह के मूवमेंट पर बारीकी से निगाह रखी जा रही है। जिसके चलते उत्तर प्रदेश के जिला पुलिस के विशेष रडार पर नजर आने लगे हैं।

Related posts

Leave a Comment