सहायक भू-सर्वेक्षण अधिकारी के 3 ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, 6.77 करोड़ की मिली संपत्ति

मध्य प्रदेश के उमरिया जिले के मानपुर में पदस्थ सहायक भू-सर्वेक्षण अधिकारी मुनेन्द्र कुमार दुबे करोड़ों का आसामी निकला है। अधिकारी के 3 ठिकानों पर लोकायुक्त पुलिस ने छापा मारा है। लोकायुक्त पुलिस को रीवा के छत्रपति नगर आवास से 1 किलो सोने की ईंट, 3 लाख कैश, 60 लाख की एफडी सहित 6.77 करोड़ की संपत्ति मिली है। ये कार्रवाई रीवा, भोपाल और शहडोल शहर में बुधवार की सुबह 5 बजे से चल रही है। शाम 6 बजे तक 6 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति उजागर हो चुकी है। लोकायुक्त एसपी राजेन्द्र कुमार वर्मा ने कहा है कि देर शाम तक कार्रवाई जारी रही है।

उमरिया के मानपुर में तैनात सहायक भू-सर्वक्षण अधिकारी मुनेन्द्र कुमार दुबे के काली कमाई की गोपनीय शिकायत रीवा लोकायुक्त कार्यालय पहुंची थी। इसके बाद एसपी लोकायुक्त राजेन्द्र कुमार वर्मा ने सत्यापन कराया, तो शिकायत सही पाई गई। फिर मामला रजिस्टर्ड कर स्पेशल कोर्ट से तीन शहरों में दबिश देने के लिए सर्च वारंट जारी कराया गया। तीन टीमें बनाकर रीवा, भोपाल और शहडोल भेजी गई। तीनों जगह 25 सदस्यीय टीम ने बुधवार की सुबह 5 बजे दबिश दी। जैसे ही घरों के दरवाजे खुले। एक साथ लोकायुक्त की टीम धड़धड़ाकर अंदर घुस गई।

रीवा के छत्रपति नगर स्थित आवास से मिली तगड़ी काली कमाई
लोकायुक्त निरीक्षक प्रमेंद्र सिंह ने बताया कि बुधवार की शुरुआती दबिश में पहले रिकाॅर्ड खंगाले गए। इसके बाद तिजोरी और अलमारी में रखे कैश व सोना जब्त किया गया। लोकायुक्त टीम उस समय चौंक गई जब एक किलो की सोने की ईंट मिली। इसके बाद आलमारी से 3 लाख कैश और 60 लाख की एफडी, करोड़ों की ​कृषि योग्य जमीन और प्लांट सहित कई लग्जरी वाहनों के रिकाॅर्ड मिले।

कोलार रोड के सर्वधर्म कॉलोनी में एक डुप्लेक्स व एक 2BHK मकान
लोकायुक्त टीम ने बताया कि सहायक भू-सर्वेक्षण अधिकारी ने राजधानी भोपाल स्थित कोलार रोड के सर्वधर्म कॉलोनी में एक डुप्लेक्स मकान व दूसरा इसी मोहल्ले में 2 बीएचके मकान मिला है। तीनों जगह की कार्रवाई में स्थानीय पुलिस का सहयोग भी लिया गया है। पूरी कार्रवाई का पल-पल का अपडेट एसपी लोकायुक्त राजेन्द्र कुमार वर्मा ले रहे है। अधिकारियों के अनुसार 2 दिन तक जांच चल सकती है।

6.77 करोड़ से अधिक संपत्ति का आंकलन
लोकायुक्त एसपी राजेन्द्र कुमार वर्मा ने बताया कि बुधवार की शाम 6 बजे तक सहायक भू-सर्वेक्षण अधिकारी मुनेंद्र कुमार दुबे के रीवा स्थित छत्रपति नगर वाले आवास से 6.77 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति के दस्तावेज मिल चुके है। कयास लगाए जा रहा है कि अभी और संपत्ति का आंकड़ा बढ़ेगा। खबर लिखे जाने तक आय से अधिक संपति का मामला दर्ज कर लोकायुक्त की ​सर्चिंग लगातार जारी है।

35 साल की नौकरी में मिली 70 लाख की सैलरी
लोकायुक्त के अधिकारियों ने बताया कि उमरिया जिले के मानपुर में पदस्थ सहायक भू-सर्वेक्षण अधिकारी मुनेंद्र कुमार दुबे ने 1985 में नौकरी लगी थी। अब तक वह सरकारी सेवक के रूप में 35 साल से सेवा दे रहे है। इस दौरान उनको सेवा अवधि में कुल 70 लाख की सैलरी मिली। जिसमें 33 फीसदी स्वयं के खर्च में व्यय हो गई। ऐसे में आरोपी के पास 50 लाख के आसपास की संपत्ति होनी चाहिए।

Related posts

Leave a Comment