जम्मू कश्मीर के होंजर डच्चन गांव में बादल फटने से मची तबाही, चार की मौत 30-40 लोग लापता, SDRF, सेना और स्थानीय प्रशासन बचाव कार्य में लगा

जम्मू कश्मीर के होंजर डच्चन (अनंतनाल्लाह) गांव में बादल फटने  से तबाही मच गई है. इस आपदा के चलते चार लोगों की मौत हो गई है जबकि 40 लोग लापता बताए जा रहे हैं. बचाव के लिए पुलिस, सेना और बचाव की अन्य टीमें मौके पर पहुंची हैं. लापता लोगों की तलाश जारी है.

इससे पहले जम्मू कश्मीर के डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि होंजर गांव में बादल फटने के बाद 8-9 घर क्षतिग्रस्त हुए हैं. मलबों से अबतक 4 शव निकाले गए हैं. केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी कि आर्मी और एसडीआरएफ की मदद से बचाव कार्य जारी है. 30-40 लोग अब भी लापता हैं. घायलों को एयरलिफ्ट करने की जरूरत पड़ने पर आईएएफ से भी संपर्क साधा गया है. ऐसे मामले में नौसेना से भी मदद ली जाएगी.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि किश्तवाड़ (J&K) में बादल फटने के संबंध में मैंने जम्मू-कश्मीर के LG और DGP से बात की है. SDRF, सेना और स्थानीय प्रशासन बचाव कार्य में लगा हुआ है, NDRF भी वहां पहुंच रही है. अधिक से अधिक लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है. शोकाकुल परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं. वहीं, जम्मू कश्मीर के एलजी ने इस घटना पर संवेदना प्रकट की है और लगातार स्थिति की निगरानी करने की बात कही गई है.

जिला प्रशासन के मुताबिक डच्चन के ऐसे जगह पर यह घटना हुई है जहां सड़कें नहीं हैं. पुलिस और आर्मी की टीम मौके पर पहुंची है और हालात का जायजा ले रही है. इसके पहले किश्तवाड़ के डीएम अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि आर्मी और पुलिस की टीम को मौके पर भेज दिया गया है.

उधर, हिमाचल प्रदेश में भी अचानक आई बाढ़ के चलते एक शख्स की मौत हो गई है जबकि 9 लोग लापता हैं. राज्य आपदा प्रबंधन के डायरेक्टर सुदेश कुमार मोख्ता ने बताया कि बादल फटने के चलते लाहौल-स्पिति जिले में अचानक आई बाढ़ से एक शख्स की मौत हो गई जबकि नौ लोग लापता हैं. चंबा जिले से भी एक शख्स के लापता होने की खबर है. लाहौल-स्पिति जिले के उदयपुर में मंगलवार की रात आठ बजे यह घटना हुई.

उन्होंने बताया कि मजदूरोंं के दो टेंट और एक प्राइवेट जेसीबी ड्राइवर इस बाढ़ में बह गए. जम्मू कश्मीर का एक मजदूर मोहम्मद अल्ताफ इस घटना में घायल हो गया जिसे नजदीकी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. राज्य पुलिस और आईटीबीपी की टीम लापता लोगों की तलाश में जुट गई लेकिन पानी का बहाव ज्यादा होने के चलते मंगलवार की रात सर्च ऑपरेशन रोकना पड़ा. बुधवार की सुबह ऑपरेशन फिर से शुरू किया गया.

Related posts

Leave a Comment