लालू यादव की बेटी रोहणी ने सुशील मोदी पर फिर बोला हमला कहाँ की महिलाओं के प्रति आपकी सोच ओछी है इन लोगो मे मां बहनो का सम्मान करने का संस्कार भी नही जानने के लिए पढि़ए पूरी खबर सुशील मोदी के किस बयान को लेकर रोहणी भड़की

सुशील मोदी पर फिर भड़कीं लालू की बेटी:रोहिणी बोलीं- घरेलू महिलाओं के प्रति आपकी सोच ओछी है, मां-बहनों का सम्मान करने का संस्कार भी नहीं
पटना4 घंटे पहले

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर एक बार फिर लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्या भड़क गई हैं। उन्होंने सुशील मोदी को फिर से निशाने पर लिया है। इससे पहले सुशील मोदी की शिकायत पर रोहिणी का ट्विटर अकाउंट 12 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया गया था। लेकिन जब रोक हटी तो रोहिणी पुराने तेवर में फिर से नजर आईं।

रोहिणी ने अब सुशील मोदी को घोर अनैतिक पाप करने वाला कहा है। रोहिणी ने ट्विटर पर लिखा है, ‘क्या घरेलू महिला क्रांति नहीं ला सकती..जिसके मुंह से यह बात निकली…महिला और भारतीय समाज का उपहास और अपमान करने का उसने घोर अनैतिक पाप किया है।’

सुशील मोदी ने क्या कहा था
दरअसल, सुशील मोदी ने राबडी़ देवी के साथ-साथ लालू प्रसाद पर भी निशाना साधा था। उन्होंने ट्विटर पर लिखा था, ‘घरेलू महिला राबड़ी देवी को सीधे मुख्यमंत्री बनवा कर क्या लालू प्रसाद संसदीय लोकतंत्र की व्यवस्था को दुरुस्त करने की क्रांति कर रहे थे?’

रोहिणी का दूसरा ट्वीट
रोहिणी अपनी मां राबड़ी देवी पर दिए गए बयान पर इतनी भड़की हुई हैं कि उन्होंने एक के बाद एक दो ट्वीट किए हैं। उन्होंने दूसरे ट्वीट में सुशील मोदी को टारगेट करते हुए लिखा है, ‘आपकी मानसिकता बता रही है घरेलू महिला या महिलाओं के प्रति कैसी आपकी ओछी सोच है? जिसको मां-बहनों का भी सम्मान करने का संस्कार नहीं वह नेता तो क्या इंसान भी कहलाने लायक नहीं! महिलाओं के प्रति इसी घिनौनी सोच के कारण डबल इंजन की सरकार ने बलिका गृह कांड को अंजाम दिया।’

राजद नेता भी गुस्से में
राबड़ी देवी पर बयान की वजह से RJD प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी भी गुस्से में दिखे। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि स्मृति ईरानी को लोग ‘सास भी कभी बहू थी’ से ही जानते थे। उस घरेलू महिला, उस सास को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश का केन्द्रीय शिक्षा मंत्री बनवाकर कौन सी क्रांति कर रहे थे?

महारानी वेब सीरीज विवाद ने तूल पकड़ा
महारानी वेब सीरीज में राबड़ी देवी की ताकत दिखाई दिखाई है। इसमें दिखाया गया है कि कैसे एक गृहिणी मुख्यमंत्री बनती है और बड़े फैसले लेती है। राबड़ी देवी का नाम बिहार की पहली महिला मुख्यमंत्री के रुप में दर्ज है। लालू प्रसाद यादव जब चारा घोटाले में जेल जाने लगे तो आनन-फानन में राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनवा दिया था। इस फिल्म पर चर्चित फिल्म समीक्षक विनोद अनुपम का इंटरव्यू भास्कर ने लिया था। भास्कर ने महारानी के स्क्रिप्ट राइटर उमाशंकर सिंह से भी बातचीत की थी। महारानी पर राजनीति इतनी गरमा गई कि BJP और JDU के नेताओं ने राबड़ी देवी के कार्यकाल की तीखी आलोचना शुरू कर दी है। सुशील मोदी ने राबड़ी के बहाने लालू प्रसाद पर भी कटाक्ष किया है।

Related posts

Leave a Comment