वन विभाग की गोली से तोमर की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

मुरैना । शहर के नगरा थाना क्षेत्र के अमोलपुरा गांव में रेत माफिया का पीछा कर रही वन विभाग टीम के द्वारा की गई फायरिंग में गोली लगने से एक ग्रामीण महावीर सिंह तोमर की मौत। रेत माफिया की ट्रॉली को रोकने के लिए रविवार की सुबह 4 बजे के करीब टीम नगरा घाट पर पहुंची थी। जहां एक रेत का ट्रैक्टर अमोलपुरा गांव में घुस आया। ट्रैक्टर को रोकने की गई फायरिंग में ग्रामीण को गोली लगी। घटना के बाद मौके पर सेकड़ों ग्रामीण इकट्ठा हो गए। वहीं कई थानों का पुलिस फोर्स भी मौके पर पहुंच गया।

 

मवेशी को भूसा डाल रहे तोमर को लगी गोली

जानकारी के मुताबिक वन विभाग की टीम चंबल के नगरा घाट पर रेत का खनन कर रहे ट्रैक्टर ट्रॉली को पकड़ने के लिए गई थी। इसी बीच एक ट्रैक्टर का टीम ने पीछा करना शुरू कर दिया। ट्रैक्टर अमोलपुरा गांव में घुस आया। ट्रैक्टर को रोकने के लिए वन विभाग की टीम ने फायरिंग कर दी। इसी बीच गोली मवेशियों को भूसा डाल रहे अमोलपुरा गांव निवासी महावीर सिंह तोमर उम्र 45 साल के हाथ मे जा लगी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

 

यह भी देखिए – सिंधिया को केंद्र में मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी, कैबिनेट का होगा विस्तार 

 

परिजन ने की सरकारी नौकरी की मांग

उधर माफिया ट्रॉली को मौके पर छोड़कर ट्रैक्टर को भगा ले गया। ग्रामीण की मौत के बाद वन विभाग की टीम भी अपनी गाड़ी छोड़ कर भाग गई। मौके पर सैकड़ों ग्रामीण इकट्ठा हो गए। घटना के बाद हंगामे की स्थिति बनते देख गांव में अंबाह, पोरसा, महुआ, नगरा सहित मुरैना से पुलिस फोर्स गांव में पहुंच गया। एसडीओपी अंबाह सहित अन्य अधिकारी भी पहुंच गए। जानकारी के मुताबिक फॉरेस्ट की टीम पर नामजद प्रकरण दर्ज कर लिया गया है,वहीं मृतक के परिजन सरकारी नौकरी की मांग कर रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment