गहलोत-पायलट विवाद खत्म कराने में जुटी कांग्रेस, जानिए कैसे प्रदेश के प्रभारी अजय माकन जुटे है मामला सुलझाने में

राजस्थान कांग्रेस  में सचिन पायलट  और सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत  के बीच चल रहे विवाद को खत्म कराने में कांग्रेस (Congress) जुटी हुई है. विवाद खत्म करने के लिए प्रदेश के प्रभारी अजय माकन राजस्थान विधानसभा में विधायकों से फीडबैक ले रहे हैं. इसकी शुरूआत जयपुर के विधायकों से हुई है. जयपुर जिले के 13 विधायक विधानसभा में मौजूद हैं. सबसे पहले आदर्शन नगर विधायक रफीक खान के साथ संवाद शुरू किया गया.

राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस और समर्थक विधायकों के साथ संवाद कार्यक्रम चल रहा है. मुख्य सचेतक महेश जोशी, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, निर्दलीय विधायक बाबूलालनागर आलोक बेनीवाल, कांग्रेस विधायक अमीन कागजी, इंद्राज गुर्जर, वेद प्रकाश सोलंकी ,गोपालमीणा ,रफ़ीक खान ,गंगा देवी और मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी विधानसभा पहुंचे हैं. कहा जा रहा है कि यह अजय माकन का फीडबैक कार्यक्रम है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के दो मुख्य सिपहसालार महेश जोशी आर महेंद्र चौधरी इसकी कमान संभाले हैं.

राजस्थान विधानसभा में होने वाले इस संवाद कार्यक्रम को दो भागों में बांटा गया है. 28 जुलाई सुबह 10 बजे जयपुर जिले के विधायकों के साथ संवाद होगा. दोपहर डेढ़ बजे लंच तक सीकर, झुंझुनू के विधायकों से फीडबैक लेंगे तो फिर लंच के बाद पहले अलवर फिर दौसा बारा कोटा, भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर के विधायकों से चर्चा करेंगे.

इसके बाद 29 जुलाई की सुबह 10 बजे अजमेर जिले के साथ संवाद कार्यक्रम का आगाज होगा जिसमें नागौर, भीलवाड़ा, टोंक, उदयपुर, राजसमंद, प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, बीकानेर गंगानगर, हनुमानगढ़, बाड़मेर, जोधपुर, जैसलमेर, जालौर, पाली और सबसे आखिर में सिरोही के विधायकों से मुलाकात करेंगे.

विधायकों को आज सुबह 10 बजे का समय दिया गया था मगर तय समय के एक घंटे बाद रायशुमारी शुरू हो पाई.फीडबैक कार्यक्रम से पहले अजय माकन विधानसभा अध्यक्ष CP जोशी के घर पहुंचे थे.

Related posts

Leave a Comment