पंजाब में CM चन्नी के करीबी रिश्तेदार समेत 10 जगहों पर ED की बड़ी कार्रवाई, अवैध रेत खनन मामले को लेकर की छापेमारी, मोहाली समेत अनेक स्थानों पर छापेमारी जारी, पढ़िए पूरी खबर

अवैध रेत खनन मामले (Sand Mining Case) को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी  के करीबी रिश्तेदार के ठिकाने पर प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने छापा मारा है. ईडी ने सीएम चन्नी के रिश्तेदार के ठिकाने के अलावा 9 और जगहों पर छापेमारी की है. ईडी की ये छापेमारी मंगलवार सुबह से जारी है. छापेमारी मोहाली समेत अनेक स्थानों पर चल रही है. ईडी के सूत्रों के मुताबिक, मोहाली में होमलैंड सोसाइटी  के जिस मकान पर छापा मारा जा रहा है वो सीएम चन्नी का एक करीबी रिश्तेदार बताया जाता है. हालांकि ईडी ने आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की है.

ईडी सूत्रों के मुताबिक, जो करीबी रिश्तेदार बताया जा रहा है वो सीएम चन्नी के साले का लड़का है. उसका नाम भूपिंदर सिंह हनी है. साल 2018 में ईडी ने कुदरतदीप सिंह के खिलाफ रेत खनन का पर्चा किया था जिसमें हनी का नाम आया है. ईडी की ये कार्रवाई धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत की जा रही है.

होमलैंड सोसाइटी के मैनेजर ने कहा, ‘ईडी की टीम सुबह 8 बजे के आसपास आई है, जिसमें सीआरपीएफ के अधिकारी भी शामिल हैं. अधिकारियों ने हमें बताया कि टॉवर 5, 53 नंबर में जाना है. दोनों गेट को सील कर दिया गया है. हालांकि 9 बजे के आसपास गेट को खोल दिया गया था, लेकिन वो लोग अब भी अंदर हैं. उन्होंने बताया कि भूपिंदर सिंह हनी किरायेदार हैं. मकान किसके नाम पर इसकी जानकारी नहीं है.’

केजरीवाल उठा चुके हैं रेत खनन का मुद्दा

बता दें कि आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब में अवैध रेत खनन का मुद्दा उठा चुके हैं. केजरीवाल ने अपने पंजाब दौरे के दौरान कहा था कि मैं पिछले कुछ दिनों से देख रहा हूं कि पंजाब के सीएम के संसदीय क्षेत्र चमकौर साहिब में अवैध बालू खनन हो रहा है. अगर यह उनके अपने निर्वाचन क्षेत्र में हो रहा है, तो इस बात पर विश्वास करना मुश्किल है कि उन्हें इसके बारे में पता नहीं है.

केजरीवाल ने आगे कहा कि सीएम चन्नी पर बालू चोरी के गंभीर आरोप हैं. पंजाब जानना चाहता है कि क्या वह अवैध रेत खनन के मालिक हैं, उनकी साझेदारी है या दूसरों को सुरक्षा प्रदान करते हैं. पंजाब में 20 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी है और उससे पहले ये एक बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है. इस मामले को लेकर सीएम चन्नी विरोधियों के निशाने पर हैं.

Related posts

Leave a Comment